Follow us on Facebook

Intezaar Shayari In Hindi – बस एक शाम का हर

Intezaar Shayari In Hindi – बस एक शाम का हर
Intezaar Shayari In Hindi – बस एक शाम का हर



बस एक शाम का हर शाम इंतज़ार रहा..


मगर वो शाम किसी शाम भी नहीं आई
Intezaar Shayari In Hindi – बस एक शाम का हर Intezaar Shayari In Hindi – बस एक शाम का हर Reviewed by Bhagyesh Chavda on February 25, 2017 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.