Follow us on Facebook

Tere Ishq Ka Suroor, who had ruined himself


Tere Ishq Ka Suroor, who had ruined himself




तेरे इश्क का सुरूर था जो खुद को बर्बाद कर दिया,

वरना एक वक़्त था जब दुनिया मेरी भी रंगीन थी...!!

 —




ठुकराओ अब, के प्यार करो, मैं नशे में हूँ

जो चाहो मेरे यार करो, मैं नशे में हूँ


अब भी दिला रहा हूँ यक़ीन-ऐ-वफ़ा मगर

मेरा ना एतबार करो, मैं नशे में हूँ


गिरने दो तुम मुझे, मेरा साग़र संभाल लो

इतना तो मेरे यार करो, मैं नशे में हूँ


मुझको क़दम-क़दम पे भटकने दो वाइज़ों

तुम अपना कारोबार करो, मैं नशे में हूँ


फ़िर बेख़ुदी में हद से गुज़रने लगा हूँ मैं

इतना ना मुझसे प्यार करो, मैं नशे में हूँ......!!!!!

.

.



Ek Engineer ne...

.
Tere Ishq Ka Suroor, who had ruined himself

.

Arz kia hai..

Woh ye bol kar hume chhod gayi dosto

wah...wah

wah...wah

.

.

.

Woh ye bol kar hume chhod gayi dosto

"Tumhare toh EXAMS hi khatm nahi hote,

tum pyaar kya ghanta kroge"



जो इस दुनियाँ में नहीं मिलते

वो फिर किस दुनियाँ में मिलेंगे.???

बस यही सोचकर खुदा ने

एक और दुनियाँ बनायी..

जिसे हम "ख्वाब" कहते हैं..!!



उन लम्हों की यादें ज़रा संभाल के रखना जो हमने साथ बिताये थे..

क्योंकी हम याद तो आयेंगे मगर लौट कर नहीं.........!!!!




एक लडका एक जनाजे को 

देख कर मुसकुरा रहा था 


एक बुजुर्ग ने देख कर कहा कि बेटा 

किसी के जनाजे को देख कर

मुस्कुराते नहीं है, 


आखों से आसू पोछते हुए लडके ने कहा कि 

क्या करुँ बाबा दोस्त से वादा किया था, 


जब भी मिलेंगें मुसकुरा कर मिलेंगे.....


Love U..., Dosto


जो कहते थे दिल को आपके हसने से बेहद सुकून मिलता है, आज उसने ही हर रोज रोने पर मजबूर कर दिया..


तेरे ही ख्वाबों की रंगीन तस्वीर हूँ मैं , अब मर्जी तेरी तू चाहे तो मिटा दे , या फिर अपने दिल से लगा लें.


कुछ ऐसे ही सिलसिले लिखे हैं;

किसी ने वक़्त गुजारने के लिए अपना बनाया;

तो किसी ने अपना बनाकर 'वक़्त' गुजार लिया!



जब भी देखता हूँ, हसते -खिलखिलाते चेहरे लोगो के,


दुआ करता हूँ इन्हे कभी किसीसे मोहब्बत न हो जाए ...!!

Tere Ishq Ka Suroor, who had ruined himself Tere Ishq Ka Suroor, who had ruined himself Reviewed by Bhagyesh Chavda on March 02, 2017 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.