Follow us on Facebook

Ads Top

2 Line Shayari || Suna Tha


सुना था.. मोहब्बत मिलती है, मोहब्बत के बदले |

हमारी बारी आई तो, रिवाज हि बदल गया ||



सुनो! या तो मिल जाओ, या बिछड जाओ,

यू सासो मे रह कर बेबस ना करो|



तुझ से रूठने का हक है मुझ को..

पर मुझ से तुम रूठो यह अच्छा नहीं लगता|



हजारों चेहरों में एक तुम ही पर मर मिटे थे..

वरना.. ना चाहतों की कमी थी और ना चाहने वालों की..!



एक सफ़र ऐसा भी होता है दोस्तों,

जिसमें पैर नहीं दिल थक जाता है…!!



तुझको लेकर मेरा ‪ख्याल‬ नहीं ‪बदलेगा‬..

‪साल‬ बदलेगा, मगर ‪दिल‬ का ‪हाल‬ नहीं बदलेगा|



अगर लोग यूँ ही कमिया निकालते रहे तो,

एक दिन सिर्फ खुबिया ही रह जायेगी मुझमे !



उसने चुपके से मेरी आँखों पर हाथ रखकर पूछा…बताओ कौन ???

मैं मुस्कराकर धीरे से बोला… “मेरी जिन्दगी”



मै नासमझ ही सहीं मगर वो तारा हूं..

जो तेरी एक ख्वाहिश के लिये..सौ बार टूट जाऊं|



मैं ख़ामोशी तेरे मन की, तू अनकहा अलफ़ाज़ मेरा..

मैं एक उलझा लम्हा, तू रूठा हुआ हालात मेरा |



जागना भी कबूल हैं तेरी यादों में रात भर,

तेरे एहसासों में जो सुकून है वो नींद में कहाँ |


Nikle hum duniya ki bhid mein to pata chala,

Har wo shakhs tanha hai jisne pyar kiya.




Hum Ne Liya Sirf Honton Se Jo Naam Tumhara,
Dil Honton Se Ulajh Para K Yeh Sirf Mera Hai.



Na jane kyu yeh raat udaas kar deti hai har roz,
Mehsos yu hota hai jaise bichad raha ho koi Dheere Dheere.



Kaisa ajeeb rishta hai dil ka,
Dil aaj bhi dhoke mein hai or dhokebaaz aaj bhi dil mein.



Use kehna apni kismat pe naaz karna acha nahi hota,
Hum ne barish me bhi jalte huye ghar dekha hain.



Humse khelti rahi duniya taash ke patton ki tarah,
Jisne jeeta usne bhi phenka Jisne haara usne bhi phenka.



Karo Bade Shoq Se Mohabbat Ae Chahane Walo,
Magar Soch Lena Kisi Kaam K Na Raho Ge Bicharne K Baad.



Mujhe Khud Par Itna To Yaqeen Hai,
Koi Mujhe Chor To Sakta Hai Magar Bhula Nahi Sakta.



Jis phool ki parvarish hum ne apni mohabbat se ki,
Jab wo khushbu ke qabil hua to auro k liye mehkne laga.

तेरे एहसासों में जो सुकून है..

वो नींद में कहाँ ..



अजीब किस्सा है जिन्दगी का,
अजनबी हाल पूछ रहे हैं और अपनो को खबर तक नहीं..



ये जो हालात हैं एक रोज सुधर जायेंगे..
पर कई लोग मेरे दिल से उतर जायेंगे..



मुजे ऊंचाइयों पर देखकर हैरान है बहुत लोग..
‪‎पर‬ किसी ने मेरे पैरो के छाले नहीं देखे..



मिठास रिश्तों कि बढाए तो कोई बात बने..
मिठाईयाँ तो हर साल मीठी ही बनती है..



अपनी जिंदगी अजीब रंग में गुजरी है..
राज किया दिलों पे और तरसे मोहब्बत को..



बेवक्त बेवजह बेसबब सी बेरुखी तेरी,
फिर भी बेइंतहा तुझे चाहने की बेबसी मेरी !



वहम से भी अक्सर खत्म हो जाते हैं कुछ रिश्ते..
कसूर हर बार गल्तियों का नही होता..



किसकी खातिर अब तु धड़कता है ऐ दिल..
अब तो कर आराम, कहानी खत्म हुई !

एक सिगरेट सी मिली तू मुझे..

ए आशिकी कश एक पल का लगाया था लत उम्र भर की लग गयी|



जी करता है चला जाऊं, हसीनों की महफिल में..
पर क्या करूं ये मेरे दोस्तो, उतना दम ही नहीं है दिल में ||



एक तु मिल जाती तो किसी का कया चला जाता..
तुझे उमर भर के लिए खुशीयाँ ही खुशीयाँ और मुझको मेरा खुदा मिल जाता|



बहुत थे मेरे भी इस दुनिया मेँ अपने,
फिर हुआ इश्क और हम लावारिस हो गए..!



मुझ पर सितम करो तो तरस मत खाना..
क्योकि खता मेरी हैं मोहब्बत मैंने किया हैं|



वो तो अपनी एक आदत को भी ना बदल सका..
जाने क्यूँ मैंने उसके लिए अपनी जिंदगी बदल डाली



बेवफा कहने से पहले मेरी रग रग का खून निचोड़ लेना..
कतरे कतरे से वफ़ा ना मिले तो बेशक मुझे छोड़ देना।



दो ‪‎लव्ज‬ क्या लिखे तेरी ‪याद‬ मे..
लोग कहने लगे तु आशिक‬ बहुत पुराना है|



सौदा कुछ ऐसा किया है तेरे ख़्वाबों ने मेरी नींदों से..
या तो दोनों आते हैं, या कोई नहीं आता..



कमाल का जिगर रखते है कुछ लोग,
दर्द पढ़ते है और आह तक नहीं करते|

No comments:

Powered by Blogger.