Follow us on Facebook

KISIKI YAADO KA CHAYA MUJPAR

KISIKI YAADO KA CHAYA MUJPAR


किसीकी यादों का छाया मुझपर खुमार है,
दिल कह रहा है यकीनन उसे भी प्यार है,
हाल-ए-दिल कहती हूँ उसे हर शायरी में,
क्यूँ न समझ सके वो ये प्यार का इज़हार है?
KISIKI YAADO KA CHAYA MUJPAR KISIKI YAADO KA CHAYA MUJPAR Reviewed by Bhagyesh Chavda on January 19, 2016 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.