Follow us on Facebook

Bada mushkil he

[feature]Bada mushkil he


बहुत मुश्किल है उनसे दूर रहना,
जुदाई के दर्द को यूँ कब तक सहना?
जानती हूँ मुझसे दूर चले गए बहुत,
पर अरमां है अब तो आ जाओ सजना !

Bada mushkil he Bada mushkil he Reviewed by Bhagyesh Chavda on January 29, 2016 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.