Follow us on Facebook

Par wo bhule se bhi yaad nahi karte

Par wo bhule se bhi yaad nahi karte

आँसू है कि आँखों से नहीं थमते,
ज़ख्म किसी की यादों के नहीं भरते,
हम उनको हर लम्हा याद किया करते,
पर वो भूले से भी याद नहीं करते !

Par wo bhule se bhi yaad nahi karte Par wo bhule se bhi yaad nahi karte Reviewed by Bhagyesh Chavda on November 17, 2015 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.