Follow us on Facebook

वो न आए उनकी याद वफ़ा कर गई

वो न आए उनकी याद वफ़ा कर गई

वो न आए उनकी याद वफ़ा कर गई,
उनसे मिलने की चाह सुकून तबाह कर गई,
आहट दरवाज़े की हुई तो उठकर देखा,
मज़ाक हमसे हवा कर गई !

वो न आए उनकी याद वफ़ा कर गई वो न आए उनकी याद वफ़ा कर गई Reviewed by Bhagyesh Chavda on March 21, 2017 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.