Follow us on Facebook

Badi jor se dil dhadakne laga

Badi jor se dil dhadakne laga

बड़ी ज़ोर से दिल धड़कने लगा,
ये क्या बात है मन बहकने लगा !
बसी दिल में जब से तेरी आरज़ू,
तुझे पाने को दिल तरसने लगा !
हवाओं को शायद ख़बर हो गई,
दुपट्टा अचानक सरकने लगा !
कहूँ किस से जाकर मेरी सांस में,
तेरा प्यार आकर महकने लगा !
ये क्या हो गया है भला 'उर्मी' को,
कि दामन कहाँ ये उलझने लगा !

Badi jor se dil dhadakne laga Badi jor se dil dhadakne laga Reviewed by Bhagyesh Chavda on March 16, 2017 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.