Follow us on Facebook

Love Shayari

Eid Cards

Home Ads

Eid Shayari | ईद शायरी

June 25, 2017
मिल के होती थी कभी ईद भी दीवाली भी अब ये हालत है कि डर डर के गले मिलते हैं अज्ञात Mil ke hoti thi kabhii Eid bhii Diwaali bhii...
0 Comments
Read

Dosti Shayari, Na jane saloon baad kaisa sama hoga

June 24, 2017
न जाने सालों बाद कैसा समां होगा, हम सब दोस्तों में से कौन कहा होगा, फिर अगर मिलना होगा तो मिलेंगे ख्वाबों मे, जैसे सूखे गुला...
0 Comments
Read
Powered by Blogger.